NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
NF Railway (Construction)
परियोजनाओं का विवरण उपलब्धियां निविदाएं ठेका बिल स्टे ठेकेदारों एवं सप्लासइरों का पंजीकरण शिड्यूल ऑफ पावर संपत्ति का विवरण लेखागार आर टी आई ट्रेन सूचनाएं रेलवे यूजर्स लॉगिन अन्ये रेलवे साइटें  

Home

पू. सी. रेल, निर्माण संगठन के वेबसाइट पर आपका स्वागत है  

संक्षिप्त विवरण

पूर्वोत्तर के सात राज्यों असम, त्रिपुरा, मेघालय, मणिपुर, नगालैंड, अरूणाचल एवं मिजोरम के सामाजिक-आर्थिक एवं संतुलित विकास हेतु परामर्शी निकाय के रूप में कार्य करने के लिए संसद में भारत सरकार द्वारा वर्ष 1971 में पूर्वोत्तर परिषद (एन सी) अधिनियमित कर गठित की गई। किसी भी क्षेत्र के द्रुतगामी विकास के लिए रेल विस्तृत आधारभूत संरचना युक्त एक महत्वपूर्ण सेक्टर रहा है। पूर्वोत्तर राज्यों ने पूर्वोत्तर परिषद मंच के माध्यम से असम के निकटवर्ती  पहाड़ी  राज्यों में रेल सम्पर्क की मांग करते रहे हैं। तद्नुसार, भारत सरकार ने वर्ष 1979 में : पहाड़ी राज्यों में से प्रत्येक में एक नई लाइन बिछाने का निर्णय लिया। साथ ही पूर्वोत्तर परिषद ने भी तेजपुर के निकट ब्रह्मपुत्र पर 3 कि.मी. लम्बी पुल के निर्माण का निर्णय लिया। रेल को यह निर्माण निक्षेप कार्य के रूप में सौंपा गया। रेलवे ने पूर्वोत्तर क्षेत्र के रेल निर्माण परियोजनाओं के बृहत आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए नई एवं अन्य चालू कार्य के साथ बीजी लाइन परियोजनाओं के प्रबन्धन एवं नियंत्रण हेतु गुवाहाटी मुख्यालयाधीन महाप्रबन्धक के नेतृत्व में एक अलग निर्माण संगठन का सृजन किया। इस प्रकार महाप्रबन्धक पू. सी. रेल निर्माण के अधीन एक  अलग  निर्माण संगठन का शुभारम्भ हुआ।

पू. सी. रेल, निर्माण को 18-01-79 से 03-07-79 तक नेतृत्व प्रदान करने वाले प्रथम महाप्रबन्धक श्री एन नीलकांत शर्मा थे। निर्माण संगठन प्रारम्भ से लेकर अब तक 14 महाप्रबन्धकों का नेतृत्व प्राप्त कर चुका है जिन्होंने इसे नई ऊँचाईयों तक पहुंचाया एवं अनेकों दुर्लभ उपलब्धियों को प्राप्त किया।

News & Events

NEW GENERAL MANAGER OF N

पू.सी.रेल निर्माण संगठन के नये महाप्रबंधक


श्री नीलेश किशोर प्रसाद ने दिनांक 31 अक्टूबर, 2017 को महाप्रबंधक, पू.सी.रेल(निर्माण) के रूप में कार्यभार ग्रहण किया है । इससे पहले श्री प्रसाद, पूर्व रेल में मुख्य कार्मिक अधिकारी के रूप में कार्यरत थे ।

श्री एन.के.प्रसाद ने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर किया और इग्नू से एमबीए की डिग्री हासिल करके जनवरी 1983 में भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा के रूप में कार्यभार ग्रहण किया । वे 1981 बेच के अधिकारी हैं। दक्षिण मध्य रेलवे में प्रारंभिक वर्ष में उन्होने मंडल, आर ई कारखाना तथा मुख्यालयों में एच आर तथा अन्य स्थापना संबंधी मामलों के विषयों पर कार्य किया है । उसके बाद उन्होंने पू.सी.रेल, मध्यम रेल तथा पश्चिम रेल में विभिन्न पदों पर कार्यरत रहे । वे समन्वय एचओडी बने और वर्ष 2005 से 2008 तक दक्षिण पूर्व मध्य‍ रेलवे के नए जोन में मुख्य कार्मिक अधिकारी के रूप में कार्य किया । वें वर्ष 2010 से 2012 तक दक्षिण रेलवे के
चेन्‍नई
में मुख्य कार्मिक अधिकारी के रूप में कार्य किया । वर्ष 2015-17 तक पूर्वोत्तर रेलवे में मुख्य कार्मिक अधिकारी के पद पर कार्यरत थे । मई ,2012 से फरवरी, 2015 के दौरान दक्षिण मध्‍य रेलवे गुंटुर में मंडल रेल प्रबंधक के रूप में कार्य किया । उन्होंने आस्ट्रेलिया, टोरेन्टों /वाशिंगटन एवं पिट्सबर्ग, संयुक्‍त राष्‍ट्र अमेरिका जैसे विदेशों में मैनेजमेन्ट (प्रबंधन) पर प्रशिक्षण प्राप्त किया ।

भारतीय रेलवे में कार्मिक विभाग में प्रभारी के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान वे बिलासपुर में रेलवे रिक्रूटमेंट सेल के माध्यम से ग्रूप-डी कर्मचारियों की प्रहली सीधी भर्ती में शामिल हुए । वहॉ पर उन्होंने प्रथम चैक-ऑफ प्रणाली की शुरूआत की जिसमें यूनियन के सदस्यता वेतन से कटौती की गई थी और वातानुकूलित प्रेक्षागृह भवन तथा महाप्रबंधक श्रम कल्याण निधि की
स्‍थापना की गई थी ।

सीएसबीएफ के
माध्‍यम से बहुत सारे श्रम कल्याण कार्य करने का निर्णय लिए -
1. दक्षिण रेलवे के महिला कर्मचारियों के लिए आवश्यक
स्‍वास्‍थ्‍य जांच कराना ।
2. रेलवे अस्पताल में लाखों रूपए के उपकरण प्रदान करना ।
3. पूर्व रेलवे के कैंसर रोगियों के लिए मुंबई में हॉलीडे होम तथा गैंगटॉक में रेल कर्मियों के लिए हॉलीडे हॉम चालू करना ।

मंडल रेल प्रबंधक के रूप में वे बहुत सारे कार्यो को लागू करवानें में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की, इनमें से कुछ इस प्रकार है
(I) गूंटुर में पहली बार एलएसएच सहित रूफ ओवर अॅप्रोच
(II) एलसी गेट सं.3 में सीसीटीवी सहित डबल बुम मॉडल
(III) गूंटुर में प्लेटफॉम सं. 1 में द्वितिय पिट लाइन पर वाशेबल एपरान, भाड़ा जांच केन्द्र , क्रू बुकिंग लॉबी का नवीकरण
(IV) गूंटुर तथा नंदयाल में आधुनिक बहु मं‍जिला टाइप ।। एवं ।।। क्वाटर
(V) रनिंग रूम , विश्राम गृहों का नवीकरण
(VI) तीर्थयात्रियों तथा पर्यटकों के लिए लोकप्रिय स्था‍न श्रीसइलम निलकंठा निलायम में विश्राम गृह
जहॉ भी वे कार्यरत रहे, उस क्षेत्र में रेलवे को बेहतर बनाने में समर्पित रहे ।

 

NF Railway (Construction) - Powered by WebX